विशेष - श्रीमदभागवत महापुराण कथा, पितृ दोष शांति निवारण , कालसर्प दोष, संगीतमय सुंदर कांड पाठ ....
।। गंडमूल शांति निवारण ।।

Gandmul Shanti Nivaran Gandmul Shanti Nivaran

प्रातः जातक ( बालक / बालिका ) का जन्म यदि गंडमूल नक्षत्रो में हो तो यह जातक के स्वास्थ्य , भविष्य , व्यव्हार , वित्य स्तिथी एवं परिवारजनों के लिए अत्यंत कष्टदायी रहता है (Gandmool Dosha Effects)!

मूल रूप 06 नक्षत्रो में यदि जातक का जन्म हो तो वह गंडमूल कहलाता है एवं इसकी शांति (Gandmul Shanti Nivaran ) परम आवश्यक है !

प्रायः गंडमूल की जातक के जन्म के 27वे दिन या फिर पता चलने पर किसी भी महीने में उसी नक्षत्र वाले दिन शांति (Gundmool Dosh Shanti) करवाने का नियम है !

अधिक जानकारी व गंडमूल नक्षत्रो के लिए संपर्क करे !