विशेष - श्रीमदभागवत महापुराण कथा, पितृ दोष शांति निवारण , कालसर्प दोष, संगीतमय सुंदर कांड पाठ ....
।। कुम्भ विवाह ।।

Kumbh Vivah Kumbh Vivah

विवाह मिलान के समय न केवल अष्टकूटों का बल्कि मंगल व अन्य ग्रहो का अवलोकन भी उतना ही अनिवार्य है । वैवाहिक सम्बन्धी समस्त बाधाओं के निवारण हेतु पीपल विवाह , कुम्भ विवाह , घट विवाह ,करवाया जाता है ।

प्रायः लड़का व लड़की की जन्म पत्री के अवलोकन के बाद ही कुम्भ विवाह , घट विवाह , पीपल विवाह का परामर्श दिया जाना चाहिए ।

इससे आनेवाली कई प्रकार की समस्याए ( विवाह के उपरान्त ) स्वतः समाप्त हो जाती है व वैवाहिक जीवन सुखमय बनाया जा सकता है।

पीपल विवाह , कुम्भ विवाह , घट विवाह के लिए संपर्क करे |