विशेष - श्रीमदभागवत महापुराण कथा, पितृ दोष शांति निवारण , कालसर्प दोष, संगीतमय सुंदर कांड पाठ ....
।। सगाई व विवाह ।।

# #

विवाह संस्कार मानव जीवन में समस्त १६ संस्कारो में से विशेष माना जाता है ।

विवाह में किये जाने वाले पवित्र मंत्रोच्चारण से देवो व पितरो के साथ-साथ इष्ट देव , कुल देव की आराधना , पूजा व मंत्रोच्चारण से भावी दंपत्ति का जीवन सुखमय बना रह सकता है।

पवित्र सगाई व विवाह से सम्बंधित किसी भी समस्या के लिए संपर्क करे ।